Written by 10:41 am Coronavirus News Views: 4

COVID-19 निगेटिव आने पर भी खत्म नहीं हो रही कहानी, नई बीमारियां लेकर अस्पताल लौट रहे मरीज़

इटली में फिर से लगीं कई पाबंदियां, हर दिन आ रहे इतने हजार नए केस

अगर डॉक्टरों की मानें तो कोविड के मरीजों में संक्रमण खत्म हो जाने के बाद भी उनको कुछ परेशानियां बनी रह रही हैं. कोविड रिपोर्ट निगेटिव आने का मतलब यह नहीं है कि इससे जुड़ी पूरी परेशानी खत्म, अधिकतर मरीजों को पोस्ट-कोविड केयर की जरूरत पड़ रही है.

कोरोनावायरस से संक्रमित हुए गृहमंत्री अमित शाह की कोविड रिपोर्ट पिछले हफ्ते निगेटिव आ गई थी लेकिन उन्हें फिर सोमवार की रात अस्पताल में भर्ती कराया गया. रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद वो होम आइसोलेशन में थे. डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें पिछले तीन-चार दिनों से बदन दर्द और थकान की शिकायत थी. अगर डॉक्टरों की मानें तो कोविड के मरीजों में संक्रमण खत्म हो जाने के बाद भी उनको कुछ परेशानियां बनी रह रही हैं. कोविड रिपोर्ट निगेटिव आने का मतलब यह नहीं है कि इससे जुड़ी पूरी परेशानी खत्म, अधिकतर मरीजों को पोस्ट-कोविड केयर की जरूरत पड़ रही है. इसके मद्देनज़र दिल्ली सरकार का राजीव गांधी सुपर स्पेशियलटी हॉस्पिटल बुधवार से पोस्ट-कोविड क्लिनिक केयर शुरू कर रहा है, ताकि वायरस से ठीक हो चुके ऐसे लोगों का खयाल रखा जा सके, जिन्हें मदद की जरूरत है.

अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉक्टर बीएल शेरवल ने बताया. ‘अलग-अलग तरह की शिकायतें आ रही हैं. कुछ मरीज कह रहे हैं कि उन्हें खांसी है या थकान है या फिर कम सैचुरेशन लेवल है. इनमें अलग-अलग उम्र के, महिला, पुरुष हर कोई शामिल है.’ शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि ऐसे भी मामले सामने आए हैं, जब कुछ मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने और रिकवर होकर घर चले जाने के बाद ऑक्सीजन लेवल गिर जाने की वजह से उनकी मौत हो गई है. सरकार की योजना अब कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों के घर Oxygen Concentrators पहुंचाने की है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद केजे अल्फोंस ने बताया कि उनकी 91 साल की मां पूरी तरह स्वस्थ थीं लेकिन 28 मई को उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई, वो ठीक हो गईं, उनकी रिपोर्ट दो बार निगेटिव आई लेकिन 11 जून को उनका हार्ट अटैक से निधन हो गया. सासंद ने कहा कि कोविड आपके पूरे शरीर पर लंबे वक्त के लिए असर डालता है. आप ठीक हो सकते हैं लेकिन सुरक्षित नहीं.

(Visited 4 times, 1 visits today)
Close